•  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •   

श्री खाटू वाले का हर साल आने वाला फाल्गुन महीने का मेला होली के त्यौहार से कुछ दिन पहले शुरू हुआ | यह मेला मार्च 25 से 27 फरवरी 2018 तक बड़ी धूम धाम से भरा गया| देश विदेश से लाखो भक्त अपने परम आराध्य बाबा के दर्शन करने आए |

महत्वपूर्ण बिंदु :-

  1. पिछले वर्ष की तरह इस बार भी DJ पर बैन रहा|
  2. मेले के दौरान पेट पलायन यात्रा बंद रखी गयी है|
  3. मंदिर में किसी भी तरह का बेग और सामान ले जाना वर्जित रहा|
  4. रोडवेज बस भी राजस्थान के विभिन्न शहरो से मेले स्पेशल बसे लगायी |
  5. शराब पूरी तरह निषेद्ध रहेगी तथा मेला क्षेत्र की अधिकृत दुकानें भी बंद रही|
  6. रींगस से खाटू मार्ग पर बस व ट्रक आदि भारी वाहनों का आवागमन बंद रहा|



बाबाश्याम के दर अब कोई नहीं वीआईपी

खाटू मेले की तैयारियों को लेकर अब प्रशासन गंभीर हो गया है। हर मेले में व्यवस्थाओं को बेपटरी करने वाली वीआईपी पास व्यवस्था को इस बार प्रशासन ने खत्म कर दिया है। मेले की व्यवस्थाओं को सुधारने के लिए पुलिस व प्रशासन ने कई नवाचारों को हरी झंडी दी है। बैठक में जिला कलेक्टर ने कहा कि प्रशासन की पहली प्राथमिकता है कि भक्तों को किसी तरह की परेशानी नहीं हो। इस बार खाटू मेला 16 फरवरी 2018 से 27 फरवरी 2018 तक 12 दिवसीय भरेगा। उन्होंने कहा कि पार्किंग व्यवस्था निशुल्क रखी जाएगी। भंडारे आदि भी पार्किंग क्षेत्र से बाहर ही लगेंगे।

धर्मशाला, होटलों में बिना पहचान पत्र के यात्रियों को नहीं रखा जा सकेगा। दुकानों में अग्निशमन व्यवस्था करनी होगी। अग्निशमन यंत्र नहीं रखने वाले दुकानदारों पर भी कार्रवाई की जायेगी। होटल, रेस्टोरेंट, भंडारे, मंदिर कमेटी रसोई आदि में घरेलू गैस सिलेंडर का उपयोग करते हुए पकड़े जाने पर कार्रवाई की जायेगी। बैठक में तय हुआ कि श्याम मंदिर कमेटी की ओर से अस्थाई शौचालय बनाये जाएंगे।

इन मार्गों से आ सकते हैं खाटूधाम

बाबा श्याम के दर्शन को खाटूधाम आने के सड़क, रेल और वायु मार्ग है। जयपुर के सांगानेर एयरपोर्ट से देश सहित विदेशों की उड़ाने हैं। जहां से 100 किमी दूरी से टेक्सी के जरिए आया जा सकता है।

वहीं जयपुर, रींगस और सीकर रेल मार्ग से जुड़े हुए हैं। मेले में रेल प्रशासन की ओर से अतिरिक्त रेल चलाई जाती हैं। दिल्ली से सड़क मार्ग से गुडग़ाव, कोटपूतली, नीमकाथाना, श्रीमाधोपुर से रींगस होते हुए बस व कार से खाटू आया जा सकता है।

इसके अलावा सीकर, दांतारामगढ, रेनवाल से भी सड़क मार्ग से खाटू सीधा पहुंचा जा सकता है।

यदि आप अलग-अलग राज्यों से आते हैं तो नीचे दिये गये लिंक पर क्लिक करके अपने राज्य का नाम डालें और पूरी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

Emergency Helpline


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •   

comments